आज का शुभ होरा(aaj ka shubh hora) वैदिक ज्योतिष के अनुसार

होरा शास्त्र को शुभ और अशुभ कर्म फल की प्राप्ति के लिये उपयोग करते हैं। सात ग्रहों के सात होरा- हैं, जो दिन रात के 24 घंटों में घूमकर मनुष्य को कार्य सिद्धि के लिए अशुभ समय में भी शुभ अवसर प्रदान करते हैं। होरा शब्द अहोत्रा ​​से लिया गया है जिसमें "अहो" का अर्थ है दिन और "रात्रा" का मतलब रात है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार, होरा समय सूर्योदय के बीच अगले सूर्योदय के बीच की अवधि है। होरा को ज्योतिष का महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है। होरा एक दिन में एक घंटे की अवधि है, जिसे किसी विशेष ग्रह द्वारा शासित किया जाता है। जिस दिन जो वार होता है, उस वार के सूर्योदय के समय 1 घंटे तक उसी वार का होरा रहता है। सत्तारूढ़ ग्रह के आधार पर होरा या तो विभिन्न उपक्रमों के लिए शुभ या अशुभ हैं। इसका उपयोग कार्य के लिए शुभ समय चुनने के लिए किया जा सकता है।
आज कार्य का शुभ होरा मुहूर्त (hora muhurat)जानिए।



विभिन्न ग्रहों की होरा में कुछ निश्चित कार्य किए जाए तो सफलता निश्चित ही प्राप्त होती हैं | चौघड़िया मुहूर्त में भी समय सारणी के अनुसार आज का शुभ चौघड़िया ज्ञात होता है | सूर्य की होरा – सरकारी नौकरी ज्वाइन करना, चार्ज लेना और देना,अधिकारी से मिलना,टेंडर भरना व मानिक रत्न धारण करना| चंद्र की होरा – यह होरा सभी कार्यो हेतु शुभ मानी जाती हैं| मंगल की होरा- पुलिस व न्यायालयों से सम्बंधित कार्य व नौकरी ज्वाइन करना, जुआ सट्टा लगाना,क़र्ज़ देना, सभा समितियो में भाग लेना,मूंगा एवं लहसुनिया रत्न धारण करना| बुध की होरा– नया व्यापार शुरू करना,लेखन व प्रकाशन कार्य करना,प्रार्थना पत्र देना,विद्या शुरू करना,कोष संग्रह करना,पन्ना रत्न धारण करना | गुरु की होरा – बड़े अधिकारियो से मिलना,शिक्षा विभाग में जाना व शिक्षक से मिलना,विवाह सम्बन्धी कार्य करना,पुखराज रत्न धारण करना | शुक्र की होरा– नए वस्त्र पहनना,आभूषण खरीदना व धारण करना,फिल्मो से सम्बंधित कार्य करना ,मॉडलिंग करना,यात्रा करना,हीरा व ओपल रत्न पहनना| शनि की होरा – मकान की नींव खोदना व खुदवाना,कारखाना शुरू करना,वाहन व भूमि खरीदना,नीलम व गोमेद रत्न धारण करना| इस प्रकार ग्रह की होरा में कार्य सफलता हेतु किए जा सकते हैं | इस प्रकार विभिन्न ग्रह की होरा में विभिन्न कार्य सफलता हेतु किए जा सकते हैं।

सात ग्रहों के सात होरा
राज सेवा के लिए सूर्य का होरा
यात्रा के लिए शुक्र का होरा
ज्ञानार्जन के लिए बुध का होरा
सभी कार्यों की सिद्धि के लिए चंद्र का होरा
द्रव्य संग्रह के लिए शनि का होरा
विवाह के लिए गुरु का होरा
युद्ध, कलह और विवाद में विजय के लिए मंगल का होरा